कृषि कानूनों के खिलाफ: किसानों के समर्थन में प्रकाश सिंह बादल के बाद सुखदेव ढींढसा ने भी लौटाया पद्मभूषण

Cover Story
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
  •   
  •   
  •  
  •  

नई दिल्ली : कृषि कानूनों के विरोध में पंजाब से अवार्ड वापसी का दौर शुरू किया है। पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के बाद राज्यसभा सांसद सुखदेव सिंह ढींढसा ने भी अपना पद्म अवार्ड वापस कर दिया है। इससे पहले आंदोलनरत किसानों के साथ एकजुटता व्यक्त करते हुए, शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के संरक्षक बादल ने कहा कि केंद्र सरकार किसानों के साथ छल कर रही है। प्रकाश सिंह बादल ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को चिट्ठी लिखकर कृषि कानूनों का विरोध किया है और किसानों पर कार्रवाई की निंदा की है। बादल ने लिखा कि किसानों के साथ जिस तरह का धोखा किया गया है, उससे उन्हें काफी दुख पहुंचा है। उन्होंने कहा कि मैं जो भी हूं, किसानों की वजह से ही हूं। ऐसे में अगर किसानों का अपमान हो रहा है, तो किसी तरह का सम्मान रखने का कोई फायदा नहीं है। उन्हें 2015 में देश का दूसरा सबसे बड़ा नागरिक सम्मान प्राप्त हुआ था।
पत्र में आगे कहा गया है, जब भारत सरकार अध्यादेश लाई थी, तो आश्वासन दिया गया था कि इन विधेयकों पर किसानों की आशंकाओं को संबंधित विधेयकों और बाद में अधिनियमों को लाने के दौरान उनकी संतुष्टि को संबोधित किया जाएगा। उन्होंने कहा, इन आश्वासनों पर भरोसा करते हुए, मैंने किसानों से सरकार की बात पर विश्वास करने की भी अपील की। लेकिन मैं तब हैरान रह गया जब सरकार अपनी कही हुई बात पर नहीं टिकी। बादल ने पत्र में कहा, मेरे लंबे राजनीतिक जीवन में यह सबसे दर्दनाक और शर्मनाक क्षण था और मैं सिर्फ उस भावनात्मक तनाव को शब्दों में बयां नहीं कर सकता।


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
  •   
  •   
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *