लक्ष्मीबाई नगर एवं न्यू गुवाहाटी के बीच पश्चिम रेलवे की पहली किसान रेल का 24 नवम्बर, 2020 को हुआ शुभारम्भ

National News
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
  •   
  •   
  •  
  •  


फोटो कैप्शन: पहली तस्वीर में लक्ष्मीबाई नगर स्टेशन से किसान रेल को हरी झंडी दिखाकर रवाना करते हुए माननीय सांसद शंकर लालवानी, दूसरे चित्र में न्यू गुवाहाटी स्टेशन के लिए अपने पहले सफर के लिए तैयार किसान रेल, तीसरे चित्र में समारोह को सम्बोधित करते हुए माननीय सांसद श्री शंकर लालवानी तथा चौथे चित्र में इस अवसर पर मंच पर आसीन अतिथिगण दिखाई दे रहे हैं।

Mumbai: एक अनूठी पहल के अंतर्गत किसानों की मदद करने के उद्देश्य से उनके कृषि उत्पाद को अन्य राज्यों के मार्केट में बिना विलम्ब पहुँचाने के क्रम में 24 नवम्बर, 2020 को आयोजित एक समारोह में माननीय सांसद श्री शंकर लालवानी द्वारा रतलाम मंडल के मंडल रेल प्रबंधक तथा अन्य गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिति में इंदौर के निकट लक्ष्मीबाई नगर स्टेशन से न्यू गुवाहाटी के लिए पश्चिम रेलवे की पहली किसान रेल को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। उल्लेखनीय है कि पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक श्री आलोक कंसल द्वारा इस सम्बंध में गहरी रुचि ली गई और अपने कुशल मार्गदर्शन एवं अहम सहयोग के ज़रिये इस अभिनव पहल के सुचारू क्रियान्वयन का मार्ग प्रशस्त करने में आपकी महत्त्वपूर्ण भूमिका रही है। ट्रेन सं. 00907 लक्ष्मीबाई नगर – न्यू गुवाहाटी साप्ताहिक स्पेशल किसान रेल लक्ष्मीबाई नगर से प्रत्येक मंगलवार 15.00 बजे रवाना होकर प्रत्येक गुरुवार को 15.25 बजे न्यू गुवाहाटी पहुँचेगी। इसी प्रकार ट्रेन सं. 00908 न्यू गुवाहाटी- लक्ष्मीबाई नगर साप्ताहिक स्पेशल किसान रेल न्यू गुवाहाटी से 26 नवम्बर, 2020 से प्रत्येक गुरुवार 22.00 बजे रवाना होकर प्रत्येक शनिवार को 22.15 बजे लक्ष्मीबाई नगर पहुँचेगी। पश्चिम रेलवे द्वारा लक्ष्मीबाई नगर और न्यू गुवाहाटी के बीच चलाई जाने वाली यह पहली किसान स्पेशल ट्रेन है, जो फरवरी, 2021 तक चलेगी।
पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी श्री सुमित ठाकुर द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, सभी किसानों के कृषि उत्पादों विशेषकर जल्द खराब होने वाले उत्पादों को अपेक्षाकृत कम मूल्य में देश के अन्य भागों में पहुँचाकर किसान रेल उनकी फसल का सही मूल्य दिलाने में उल्लेखनीय मदद करेगी। यह साप्ताहिक ट्रेन किसानों, मार्केटों तथा उपभोक्ताओं के बीच निर्बाध सम्बद्धता उपलब्ध करायेगी। जल्द खराब होने वाली सब्ज़ियों और फलों के सुरक्षित परिवहन के लिए सभी जरूरी उपाय किये गये हैं। कोई भी किसान या इच्छुक पार्टी कंसाइनमेंट के आकार की बिना किसी सीमा के इस रेल में सीधे तौर पर अपना उत्पाद बुक कर सकती है। 50 से 100 किलोग्राम का छोटा कंसाइनमेंट भी ट्रेन रुकने के किसी भी स्टेशन से ट्रेन के अन्य ठहराव वाले किसी भी स्टेशन के लिए बुक किया जा सकता है।
श्री ठाकुर ने बताया कि किसान रेल केन्द्र सरकार द्वारा किसानों की आमदनी बढ़ाने की प्रतिबद्धता का एक बेहतरीन प्रतीक है। आलू और प्याज़ के साथ-साथ जल्द खराब होने वाले फलों और सब्ज़ियों की व्यावसायिक मांग को देखते हुए किसान रेल स्पेशल ट्रेन को चलाने का निर्णय लिया गया, जो आत्मनिर्भर भारत अभियान के अंतर्गत ऑपरेशन ग्रीन को साकार करते हुए चलाई जा रही है। खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय द्वारा प्रदान की जा रही 50 प्रतिशत सब्सिडी से किसानों को अपने उत्पादों के बेहतर परिवहन में विशेष सहायता मिलेगी। उल्लेखनीय है कि पश्चिम रेलवे कोरोना लॉकडाउन के दौरान कठिनतम चुनौतियों के बावजूद मिल्क स्पेशल ट्रेनों के अतिरिक्त अन्य जरूरी उत्पादों के परिवहन के लिए निरंतर पार्सल स्पेशल ट्रेनें चला रही है। इन्हीं प्रयासों को जारी रखते हुए पश्चिम रेलवे ने लक्ष्मीबाई नगर स्टेशन से न्यू गुवाहाटी के लिए 24 नवम्बर, 2020 से पहली किसान रेल की शुरुआत की, जो 180 टन प्याज लेकर रवाना हुई। इस ट्रेन में कुल 20 डिब्बे हैं, जिनमें से 18 डिब्बों में प्रति डिब्बे 10 टन प्याज था तथा अन्य दो डिब्बों को अन्य स्टेशनों से लोडिंग के लिए खाली रखा गया। यह ट्रेन दोनों दिशाओं में संत हिरदाराम नगर, बीना, झाँसी, कानपुर, लखनऊ, गोरखपुर, छपरा, हाजीपुर, कटिहार, किशनगंज, न्यू जलपाईगुड़ी तथा चांगसारी स्टेशनों पर रुकेगी।


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
  •   
  •   
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *