नई दिल्ली: महेश भट्ट की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. हाल ही में सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले में उनका बयान दर्ज कराने के लिए मुंबई पुलिस ने उन्हें तलब किया था, तो अब एक और मामले में बयान दर्ज किए जाने के लिए उन्हें महिला आयोग की तरफ से नोटिस भेजा गया है. जी हां राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) की चेयरपर्सन रेखा शर्मा ने फिल्म निर्माता महेश भट्ट (Mahesh Bhatt), मौनी रॉय के अलावा उर्वशी रौतेला, रणविजय सिंह और प्रिंस नरूला को कथित तौर पर लड़कियों का शोषण करने वाली मॉडलिंग फर्म को बढ़ावा देने के लिए नोटिस जारी किया है.
चेयरपर्सन रेखा शर्मा ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘निर्देश जारी करने के बावजूद आईएमजी वेंचर्स के प्रमोटर सनी वर्मा और उनके साथी ने आयोग के सामने अपनी उपस्थित दर्ज नहीं कराई. इन लोगों ने न तो जवाब देने की जहमत उठाई और न ही निर्धारित बैठक में भाग लिया है.’
रेखा शर्मा ने एक के बाद एक इस मामले में कई ट्वीट किए हैं. इस ट्वीट में उन्होंने कहा, ‘राष्ट्रीय महिला आयोग ने इनकी गैर-उपस्थिति को काफी गंभीरता से लिया है. अब ये बैठक 18 अगस्त को 11.30 बजे के लिए स्थगित कर दी गई है. इन लोगों को एक बार फिर से औपचारिक नोटिस भेजा जाएगा, अगली बार अगर ये अपनी उपस्थिति दर्ज नहीं कराते हैं तो हमारी प्रक्रियाओं के अनुसार इनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.’
दरअसल सोशल एक्टिविस्ट योगिता भैयाना ने अपनी शिकायत में एक कंपनी के प्रमोटर के खिलाफ आरोप लगाया गया है कि उसने मॉडलिंग में करियर बनाने का मौका देने के बहाने कई लड़कियों का यौन शोषण किया और उन्हें ब्लैकमेल भी किया. योगिता ने इसके साथ एक वीडियो भी शेयर किया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here