नई दिल्‍ली: कोरोना ने एक तरफ लोगों की जिंदगी छीन ली है तो दूसरी तरह आर्थिक रूप से भी दुनिया को काफी नुकसान पहुंचाया है। कोरोना के कारण बड़े पैमाने पर उद्योग धंधे बंद हो गए हैं। हालांकि बड़ी तादाद में लोग इस महामारी से ठीक भी हो चुके हैं, लेकिन जो लोग कोरोना बच गए, वे बेरोजगारी के संकट से बच नहीं पाए। कोरोना से मरने वालों की संख्या 981,962 है और बेरोजगारों की संख्या 50 करोड़ है।
भारत में लाखों बेरोजगार
कोरोना ने दुनिया के सभी देशों की अर्थव्यवस्था को प्रभावित किया है। विश्‍व का सबसे शक्‍तिशाली देश अमेरिका भी इससे बच नहीं पाया है। कोरोना की तुलना में अधिक लोगों ने अपना जीवन खो दिया है। कोरोना ने रोजगार के अवसरों में गिरावट का कारण बना है। भारत में लॉकडाउन के कारण लाखों लोग बेरोजगार हो गए हैं।
संयुक्त राष्ट्र के अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन द्वारा रिपोर्ट जारी की गई है, जिनके आंकड़े चौंका देने वाले हैं। कोरोना ने कथित तौर पर दुनिया भर में 500 मिलियन लोगों को बेरोजगार छीन गया है। ILO का अनुमान कार्य के घंटों में कमी के आधार पर है। वास्तविक आंकड़ा ILO अनुमान से अधिक होने की उम्मीद है। हालांकि अभी तक किस देश में कोरोना से कितने लोग बेरोजगार हुए हैं, इसका आंकड़ा नहीं आया है। दुनिया भर में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। दुनिया भर में कुल 32 मिलियन लोग कोरोना से संक्रमित हैं। कोरोना से अब तक कुल 23.6 मिलियन लोग ठीक हो चुके हैं। कोरोना से कुल 9 लाख 81 हजार लोगों की मौत हुई है। पिछले 24 घंटों में दुनिया में 3 लाख 11 हजार नए मामले सामने आए हैं।
अमेरिका में 39,433 नए मामले और भारत में 86,508 मामले सामने आए हैं। ब्राजील में 32,445 और रूस में 6431 मामले हैं। जबकि स्पेन में 11,289 नए मामले सामने आए हैं, फ्रांस में 13,072 नए मामले सामने आए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here