नई दिल्‍ली: केंद्र सरकार ने कोरोना वैक्‍सीन आने से पहले ही इसकी खरीद की पूरी तैयारी कर ली है। सरकार ने मामले की जानकारी रखने वाले लोगों के अनुसार, चीन के बाद दुनिया के सबसे अधिक आबादी वाले भारत ने कोरोना के टीका के लिए लगभग 500 बिलियन रुपये (7 बिलियन डॉलर) निर्धारित किए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रशासन का अनुमान है कि 1.3 बिलियन के राष्ट्र में प्रति व्यक्ति पर लगभग 6-7 डॉलर की लागत आएगी। लोगों ने कहा कि पहचान नहीं बताने का हवाला देते हुए एक मीडिया हाउस से बातचीत में कहा कि 31 मार्च को समाप्त होने वाले चालू वित्त वर्ष के लिए अब तक पैसा जुटाया गया है और इस उद्देश्य के लिए आगे धन की कोई कमी नहीं होगी।
वैक्सीन की कीमत:
कहा जा रहा है कि भारत को प्रति व्यक्ति को दो इंजेक्शन लगाए जाएंगे‍, जिसमें एक बार का खर्चा करीब 2 डॉलर आएगा। इसके साथ ही 2 से 3 डॉलर प्रति व्यक्ति का खर्च भंडारण और परिवहन जैसे बुनियादी ढांचे में आने का अनुमान लगाया जा रहा है। सरकार समर्थित पैनल ने भविष्यवाणी की है कि भारत संक्रमणों के चरम पर है और फरवरी तक इसका प्रसार हो सकता है। कोरोना ने राष्ट्र को आर्थिक विकास में एक बड़ा झटका दिया है और पीएम मोदी अर्थव्यवस्था को फिर से खोल रहे हैं। इस सप्ताह के अंत में देश कई त्योहार मना रहा होगा, जो रोजाना आने वाले कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से उछाल ला सकते हैं। पीएम मोदी ने मंगलवार को कहा कि उनकी सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि तैयार होते ही सभी भारतीयों को कोविड-19 वैक्सीन की सुविधा मिले।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here