पतंजलि आयुर्वेद को वर्ष 2019-20 में 425 करोड़ रुपये का नेट प्रॉफिट, इस वजह से बढ़ी कमाई

Business
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
  •   
  •   
  •  
  •  

नई दिल्ली : वित्त वर्ष 2019-20 में योगगुरु बाबा रामदेव (Baba Ramdev) की कंपनी पतंजलि आयुर्वेद (Patanjali Ayurved) ने शानदार प्रदर्शन किया। बिजनेस इंटेलिजेंस प्लेटफॉर्म Tofler के आंकड़ों के मुताबिक, वर्ष 2019-20 पतंजलि आयुर्वेद का नेट प्रॉफिट (Net Profit) 21.56% बढ़कर 424.72 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। वहीं, वर्ष 2018-19 में पतंजलि आयुर्वेद का कुल प्रॉफिट 349.37 करोड़ रुपये था। 31 मार्च, 2020 को खत्म हुई तिमाही में पतंजलि का ऑपरेशनल रेवेन्यू पिछले साल की तुलना में 5.86% बढ़कर 9,022.71 करोड़ रुपये तक पहुंच गया। इस दौरान पतंजलि आयुर्वेद का कुल खर्च 5.34% बढ़कर 8,521.44 करोड़ रुपये हो गया। टैक्स चुकाने से पहले पतंजलि आयुर्वेद का कुल मुनाफा 25.12% बढ़कर 566.47 करोड़ रुपये था। वहीं, 2018-19 में यह 452.72 करोड़ रुपये था।
वित्त वर्ष 2019-20 में अन्य सोर्स से पतंजलि आयुर्वेद का इनकम तीन गुना बढ़कर 65.19 करोड़ रुपये हो गया। जबकि 2018-19 में यह केवल 18.89 करोड़ रुपये रहा था। स्वामी रामदेव ने कहा, पिछला वित्त वर्ष हमारे लिए बेहद चुनौतीपूर्ण रहा था, जिस दौरान हमने रुचि सोया का अधिग्रहण किया। उन्होंने कहा कि लोगों का भरोसा पतंजलि के उत्पादों पर बढ़ा है, जिसका असर कंपनी की ग्रोथ में देखने को मिल रहा है। उन्होंने कहा कि पिछले वित्तीय वर्ष की तुलना में इस वित्त वर्ष में हमारा ग्रोथ ज्यादा बढ़ेगा। उन्होंने उम्मीद जताई कि दिव्य फार्मेसी (Divya Pharmacy) जैसे कुछ सेग्मेंट में इस साल तेज ग्रोथ देखने को मिलेगी।
रुचि सोया का अधिग्रहण किया था
बाबा रामदेव ने कहा, लॉकडाउन के दौरान कुछ दिनों को छोड़ दें तो हमारी सर्विसेज कभी बंद नहीं हुईं। हमारे पास खुद का ट्रांसपोर्टेशन और डिस्ट्रीब्यूशन लाइन है और हमने पहले दिन से ही प्रोडक्शन का काम शुरू कर दिया था। आपको बता दें कि बाबा रामदेव के बिस्किट, नूडल्स, डेयरी कारोबार, सोलर पैनल, अपैरल और ट्रांसपोर्टेशन आदि का कारोबार पतंजलि आयुर्वेद के अंतर्गत नहीं आता है। इसके लिए उनकी एक अलग कंपनी है। बाबा रामदेव ने रुचि सोया का अधिग्रहण पिछले साल दिसंबर में 4,350 करोड़ रुपये में किया था, जो अभी काफी फायदे में है।


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •   
  •   
  •   
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *