पं. अशोक पंवार
शनि 25 जनवरी 2020 को अपनी राशि मकर में प्रवेश करेगा। मकर से उसकी तृतिय दृष्टि मीन पर सम, सप्तम दृष्टि कर्क पर सम, व दशम दृष्टि तुला पर उच्च पड़ेगी। वषार्रंभ से शनि अस्त होकर 30 जनवरी तक रहेगा। 12 मई से वर्क्री होकर 29 सितंबर तक रहेगा। अस्त व वर्क्री स्थिति मे फल कमी आती है व वक्र स्थिति मे कार्य देरी से होते हैं।
भारत देश के लिए वक्र स्थिति मे काफी संभल कर चलने का रहेगा। कफी उथल – पुथल देखने को मिलेगी। राजनीति मे भी उतार चड़ाव बना रहेगा। देश के व्यवसाईक मामलों मे अस्थिरता का वातावरण रहेगा। देश के प्रधान को संकटो का सामना करना पड़ेगा। शत्रुओ से परेशानि रहेगी लेकिन अन्त मे शत्रु पक्ष को हारना ही होगा।
बारह राशियों के लिए कैसा रहेगा मकर का शनि आईए जानते हैं-
मेष राशि व लग्न वालो को दशम भाव से भ्रमण करने से व्यापार व्यवसाय मे उन्नति होगी वही नोकरी पेशा भी लाभान्वित होंगे। नवीन कार्य योजना बनेगी, बैरोजगार भी रोजगार पानें मे सफल होंगे। बाहरी मामलों मे सावधानी पुर्वक सफल होंगे। पारिवारिक समय मिला जुला ठीक रहेगा। दाम्पत्य जीवन मे अनुकूल स्थिति रहेगी।
वृषभ राशि व लग्न वालो के लिए नवम भाग्य भाव से मकर का शनि गोचर भ्रमण करेगा। भाग्य में वृद्धि होगी पिता का सहयोग मिलेगा। व्यवसाय मे प्रगति, नोकरी पेशा सुखद स्थिति पाऐंगे। आर्थिक लाभ के योग बनते रहेंगे। शत्रु वर्ग परास्त होंगे। कोर्ट सें संबंधित कार्यो मे सफलता मिलेगी। कर्ज हो तो कर्ज की स्थिति कम होगी। स्वास्थ्य उत्तम रहेगा।
मिथुन राशि व लग्न वालो के लिए शनि का गोचर भ्रमण अष्टम भाव से होनें से प्रारंभ के सवा साल काफी परेशानियों से गुजरना पड़ सकता है। आपके कार्य मे देरी होगी वही धन कुटूम्बीयों का सहयोग मिलने से कुछ राहत भी मिलेगी। संतान पक्ष से सहयोग मिलेगा। स्वास्थ्य उत्तम ही रहेगा। विद्यार्थी वर्ग के लिए समय सुखद रहेगा। भाग्य साथ देगा।
कर्क राशि व लग्न वालो के लिए दाम्पत्य जीवन मे अनुकूलता रहेगी वही दैनिक व्यवसाय भी उत्तम रहेगा। स्वास्थ्य की दृष्टि से समय ठीक से व्यतित होगा। समय आपके पक्ष मे रहेगा। पारिवारिक मामलो मे सहयोग के साथ प्रसन्नता भी रहेगी। मकान भूमि संबंधित मामलो मे कार्य बनते नजर आऐंगे। जीवन साथी से महत्वपूर्ण सहयोग पाऐंगे।
सिंह राशि व लग्न वालों के लिए मकर का शनि षष्ट भाव से गोचर भ्रमण करने से शत्रुओं का नाश होगा। कर्ज हो तो उससे मुक्ति मिलेगी। बाहरी मामलों मे सुधार होगा। यात्राओं के योग बनेंगे। पराक्रम मे वृद्धि होगी वही भाईयों का सहयोग मिलने से राहत महसूस करेंगे। साझेदारी के कामों मे अनुकूल सफलता मिलेगी।
कन्या राशि व लग्न वालों के लिए शनि का गोचरीय भ्रमण पंचम भाव से होने से संतान पक्ष से सहयोग के साथ प्रसन्नता रहेगी। विद्यार्थी वर्ग भी अनुकूल स्थिति पाऐंगे। आय के साधनो मे वृद्धि होगी। इच्छित कार्य बनेंगे। कुटूम्ब के लोंगो का सहयोग मिलेगा वही धन की बचत भी होगी। वाणी के प्रभाव से आपके रूके कार्य भी बनेंगे।
तुला राशि व लग्न वालो को मकर का शनि कारक होकर चतुर्थ भाव से गोचर भ्रमण करने से पारिवारिक समस्याओं का समाधान होगा वही घर की आशा भी पुरी होगी। माता के स्वास्थ्य मे सुधार होगा। व्यापार व्यवसाय, नोकरी आदि मे अनुकूल स्थिति पाऐंगे। प्रभाव मे वृद्धि होगी वहीं स्वास्थ्य ठीक रहेगा। महत्वपूण कार्य मे सफल होंगे।
वृश्चिक राशि व लग्न वालों के लिए मकर का शनि तृतिय भाव से गोचर भ्रमण करने से पराक्रम मे यथेष्ट वृद्धि होगी। भाईयो का सहयेग मिलने से प्रसन्नता रहेगी। भाग्य मे अनुकूल स्थिति होने से कार्य मे सुगमता रहेगी। पारिवारिक समय सुखद व्यतित होगा। जनता से संबंधित कार्य बनेंगे। बाहरी मामलो मे सहयोग के द्धारा सफल होंगे। यात्राओ के योग बनते रहेंगे।
धनु राशि व लग्न वालो के लिए मकर का शनि द्वितीय भाव से भ्रमण करनें से आर्थिक स्थिति मे सुधार होकर लाभ के रास्ते खुलेंगे। छोटे भाईयों का सहयोग मिलेगा। धन कुटूम्बीयो का सहयोग मिलनें से प्रसन्नता रहेगी। वाणी का प्रभाव बढेगा। पारिवारिक स्थिति मे सुधार होगा वही माता के स्वास्थ्य मे अनुकूलता रहेगी। मकानी कर्ज होतो दूर होगा।
मकर लग्न व राशि वालो के लिए लग्न से भ्रमण करनें से प्रभाव मे वृद्धि होगी वही बाहरी संबंधो मे सुधार होगा। यात्रा के योग बनते रहेंगे। दाम्पत्य जीवन मे सुखद वातावरण रहेगा। आर्थिक प्रयासो मे सफल होंगे। अकस्मात लाभ के योग बनेंगे। पद्दोन्नति से भी लाभ मिल सकता है। पराक्रम द्धारा अनुकूल स्थितियां बनाने मे सफल होंगे। धन की बचत भी होगी।
कुंभ लग्न व राशि वालो के लिए मकर का शनि बारहवें भाव से भ्रमण करने से बाहरी मामलो मे सहयोग के साथ कार्य मे प्रगति आएगी। मध्यम दूरी की यात्राऐं होती रहेगी। शत्रु पक्ष पर प्रभाव बना रहेगा। कर्ज की स्थिति दूर होगी। भाग्य मे अनुकूल स्थिति होंने से आपके रूके कार्यो में सफलता पाऐंगे। पिता का सहयोग मिलने से प्रसन्न्ता रहेगी।
मीन लग्न व राशि वालो के लिए मकर का शनि आय भाव एकादश से भ्रमण करने से आर्थिक स्थिति मे सुधार होकर अर्थलाभ पाऐंगे। विद्यार्थी वर्ग के लिए समय उत्तम है। संतान पक्ष का सहयोग मिलने से राहत पाएगे। स्वास्थ्य की दृष्टि से समय ठीक ही कहा जा सकता है। छोटे भाईयों का सहयोग मिलने से प्रसन्नता रहेगी।
उपाय- यदि किसी को शनि के गोचर मे अशुभफल मिलते हो जैसे काम मे सफलता नही मिलना, कोई भी कार्य देरी से होना आदि के लिए एक चम्मच तिल का तेल जमीन पर प्रति शनिवार गिरावें। खड़े उड़द स्नान के जल मे 5-6 दाने प्रतिशनिवार डाल कर नहाऐ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here