लखनऊ| उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों से कहा कि 10 लाख से अधिक कामगारों एवं श्रमिकों के लिए रोजगार के अवसर सृजित करें। यह जानकारी बुधवार को एक अपर मुख्य सचिव ने दी। अपर मुख्य सचिव (गृह एवं सूचना) अवनीश कुमार अवस्थी ने लोकभवन में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस के दौरान बताया कि मुख्यमंत्री ने टीम-11 की बैठक में कहा कि 10 लाख से अधिक श्रमिकों के लिए रोजगार के अवसर सृजित करें। इस दिशा में आगामी 6 माह की अवधि में प्रथम चरण की कार्य योजना बनाएं।
उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि प्रदेश में कोरोना से होने वाली मृत्यु की दर को कम करें। इस दिशा में जिस भी मरीज में हल्का सा भी लक्षण मिले, उसका तुरंत उपचार किया जाए। हालांकि उप्र की मृत्युदर देश के अन्य राज्यों से जनसंख्या और संख्या की दृष्टि से काफी कम है।
अवस्थी ने बताया कि सभी 75 जनपदों में चिकित्सा विभाग द्वारा विभिन्न अस्पतालों एवं मेडिकल कॉलेज में सिंगल स्लॉट, डबल स्लॉट और फोर्थ स्लॉट की मशीन उपलब्ध करा दी गई हैं।
बतौर मुख्य सचिव (गृह), मुख्यमंत्री ने कहा कि चिकित्सा शिक्षा मंत्री और चिकित्सा मंत्री नॉन कोविड अस्पतालों एवं चिकित्सा संस्थानों की व्यवस्था को और मजबूत करने के लिए सभी अस्पतालों से संवाद बनाएं। संबंधित विभागों के प्रमुख सचिव को निर्देशित करते हुए उन्होंने कहा है कि अस्पतालों में इमरजेंसी सुविधाओं की व्यवस्थित करें, जिससे किसी मरीज को अपातकालीन स्थिति में इंतजार न करना पड़े।
अवनीश अवस्थी ने बताया, “मुख्यमंत्री ने कहा है कि मंडियों को एक्सपोर्ट के हब के रूप में विकसित किया जाए, जिससे पैरेशिबल आइटम्स को विदेशों में भेजा जा सके। मुख्यमंत्री ने पब्लिक एड्रेस सिस्टम को प्रदेश में और मजबूत करने का निर्देश दिया है। साथ ही उन्होंने कहा है कि कंटेनमेंट जोन को लेकर जो नियम बनाए गए हैं, उनका कड़ाई से पालन कराया जाए।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here