नई दिल्ली : स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने ब्याज दरों में कटौती का ऐलान किया है। एसबीआई ने मार्जिनल कॉस्ट बेस्ड लेडिंग रेट एमसीएलआर में 0.10 फीसदी कटौती का ऐलान किया है। पहले जो एमसीएलआर 8.25 फीसदी थी अब घटाकर 8.15 फीसदी सालाना कर दी गई है। एमसीएलआर के रेट कम होने से होम लोन की ब्याज दरें भी कम हो जाएंगी।
स्टेट बैंक की होम लोन की ये नई दरें 10 सितंबर से लागू हो जाएंगी। चालू वित्तीय वर्ष 2019-20 में यह पांचवा मौका है जब एसबीआई ने ब्याज दरों में कटौती की है। इसके साथ ही बैंक ने फिक्स डिपॉजिट पर भी कटौती का ऐलान किया है। रिटेल डिपॉजिट पर दरों में 0.25 फीसदी की कटौती और टर्म डिपॉजिट रेट पर 0.10 से 0.20 फीसदी की कटौती की है।
बैंक ने कहा है कि एक साल के लिये कर्ज की सीमांत लागत आधारित (एमसीएलआर) ब्याज दर ताजा कटौती के बाद घटकर 8.15 प्रतिशत रह जायेगी। बैंक की ज्यादातर ब्याज दरें इसी दर से जुड़ी रहतीं हैं। इससे पहले यह दर 8.25 प्रतिशत रही है। बैंक ने इसके साथ ही अपनी खुदरा सावधि जमा पर भी ब्याज दर में 0.20 से 0.25 प्रतिशत तक की कटौती की है। जबकि एकमुश्त बड़ी राशि की सावधि जमा की ब्याज दर में 0.10 से लेकर 0.20 प्रतिशत तक की कटौती की है। जमा पर ये कटौतियां भी मंगलवार से प्रभावी होंगी। बैंक ने कहा है कि घटती ब्याज दरों के मौजूदा परिवेश और उसके पास उपलब्ध अधिशेष नकदी को देखते हुये सावधि जमा की ब्याज दरों को परिस्थिति के अनुरूप किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here