UNN@ Sandeep Khardekar: दोस्तों, गर्मी के बाद बारिश की रिमझिम फुहार से भरा सुहावना मौसम किसे नहीं भाता, सब के दिलो को अपनी बूंदों से भीगा देती है ये बारिश. एसा कोई नहीं जिसे ये मौसम पसंद नहीं. प्यार का ये खूबसूरत मौसम रिमझिम फुहार से भरा सुहावना मौसम हर हर किसी को इस मौसम का बेसब्री इंतज़ार रहता हैं. बारिश अपनी प्यार भरी बूंदों से भिगो देती हैं और प्यार इसमे भीग कर एक दुसरे में समां जाते हैं.

बारिश की बूंद फ़िर पास आई
जाग उठती हैं अजब ख़्वाहिशें अंगड़ाई की
मेरे सफ़र का आखिरी पड़ाव मुझे दिखाई दी..

सुनें ये गाना…
शायद यह गाना आपके दिल के करीब हो

रिमझिम गिरे सावन
रिमझिम गिरे सावन, सुलग सुलग जाये मन
भीगे आज इस मौसम में, लगी कैसी ये अगन
रिमझिम गिरे सावन सुलग सुलग जाये मन
भीगे आज इस मौसम में, लगी कैसी ये अगन…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here