इंदौर । इन दिनों हर किसी पर रामायण का असर सिर चढ़कर बोल रहा है। ऐसे में रचनात्मकता से जुड़े लोगों पर तो इसका प्रभाव पड़ना लाजमी है। रामायण से प्रभावित होकर कोई श्रीराम के आदर्शों को अपनाने की बात करता है तो कोई लक्ष्मण, भरत के सिद्धांतों को अपना आदर्श मानता है। पर दिल्ली के युवा ने लंकाधिपति रावण की खूबियों को एक नए नजरिए से लोगों के सामने लाने का प्रयास किया। युवा कलाकार रिषभ त्यागी ’रॉक डी‘ ने ’रावण रावण हूं मैं‘ गीत लिखा भी है और उसे गाया भी है जो इन दिनों सोशल मीडिया पर बहुत लोकप्रीय हो रहा है। रावण के सकारात्मक पक्षों को ध्यान में रखते हुए और उसे अपनाने की बात करते हुए रॉक डी ने यह गीत तैयार किया है। इस गीत के जरिए रॉक डी ने यह बताने की कोशिश की है कि रावण ने अपनी बहन के सम्मान के लिए भगवान से भी शत्रुता कर ली थी। वह यह जानता था कि श्रीराम भगवान है फिर भी रावण ने उनसे युद्ध किया। रावण के गुणों का वर्णन करते हुए उसे महान शिवभक्त, परम प्रतापी, परमज्ञानी बताया। रॉक डी ने ही इस गीत का म्यूजिक भी दिया है और इसमें टिक टॉक फेम अंश पंडित ने एकि्टंग की है।
यूट्यूब पर लॉन्च हो चुका यह गीत पूरे देश में बहुत पसंद किया जा रहा है। गीत को बोल, संगीत और रैप स्टाइल में उसे गाने का अंदाज युवाओं को खासा पसंद आ रहा है। यूट्यूब पर इसके 2 लाख सब्सक्राइबर्स हैं। इसके अलावा सावन पर इसके 1 मिलियन व्यूअर्स हैं। टिकटॉक पर भी इसके करीब 3 मिलियन साउंड हैं। पंजाब रहरियाणा में अपने टिकटॉक से धूम मचाने वाले अंश पंडित ने भी इसे बहुत ही खूबसूरत अंदाज में पेश किया। इस गीत के न केवल बोल बलि्क इसका म्यूजिक भी लिसनर्स को खूब पसंद आ रहा है। जिस अंजाद से यह गीत फिल्माया गया है उससे व्यूअर्स के बीच भी लोकप्रीयता बढ़ रही है। रॉक डी का कहना है कि वे शुरू से ही कुछ अलग करना चाहते थे इसलिए गायन चुना। गायन में भी वे अलग जोन में जाना चाहते थे इसलिए पौराणिक पात्र रावण को चुनते हुए उसकी खूबियों को लोगों के सामने प्रस्तुत किया। वे कहते हैं कि मैं इस गीत के जरिए लोगों को यह संदेश देना चाहता हूं कि आज के दौर में हम श्री राम के आदर्शों पर तो नहीं चल सकते लेकिन यदि रावण का यह गुण ही अपना लिया कि अपनी बहन के सम्मान के लिए कमर कस लें तो दुनिया में नारी का कोई अपमान नहीं कर सकता|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here