दिल्ली पॉल्यूशन कंट्रोल कमेटी ने राजधानी के 12 अस्पतालों पर बड़ी कार्रवाई की है। बॉयोमेडिकल वेस्ट को नियमों के तहत ट्रीट नहीं करने की वजह से 12 अस्पतालों को DPCC ने बंद करने का नोटिस दिया है। इन अस्पतालों के पास दो दिन का और वक्त है 30 जून तक अस्पतालों को DPCC के नोटिस का जवाब देना है अगर जवाब नहीं देते तो एक हफ्ते बाद इन अस्पतालों को बंद कर दिया जाएगा।

बता दें कि इन अस्‍पतालों पर प्रदूषण मानकों का पालन न करने का आरोप है। फिलहाल दिल्‍ली प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने दिल्ली के 12 अस्पतालों पर कार्रवाई की है। इन सभी 12 अस्‍पतालों पर अपना संचालन पूरी तरह से बंद करने की तलवार लटक रही है। यानी इन अस्पतालों का संचालन बंद हो जाएगा। इन अस्पतालों में ना तो अब नए मरीजों को लिया जाएगा और जो मरीज यहां भर्ती हैं उन्हें भी जल्द से जल्द कहीं और शिफ्ट करने के लिए कहा गया है।

ऐसा क्यों हो रहा है इसकी वजह बताएं लेकिन उससे पहले जान लीजिए ये अस्पताल हैं कौन कौन से अस्पतालों पर ताला लगने जा रहा है।

जेएमसी हॉस्पिटल
जन कल्याण हॉस्पिटल
आस्था मेडिकल सेंटर
ऑरेंज ट्री
एसबी हेल्थकेयर
फराज हॉस्पिटल
आबिदीन मेडिकल सेंटर
मौजीराम लॉयन्स आई हॉस्पिटल
भारद्वाज हॉस्पिटल
ओम शिव शक्ति मान नर्सिंग होम
मेडिकेयर हॉस्पिटल और
इकबाल फेरी मेडिकल सेंटर

इन अस्पतालों को बंद करने का आदेश दिल्ली पॉल्यूशन कंट्रोल कमेटी यानी DPCC की तरफ से दिया गया है। वजह है ये अस्पताल बॉयोमेडिकल वेस्ट को नियमों के तहत ट्रीट नहीं कर रहे थे। बॉयोमेडिकल वेस्ट बेहद खतरनाक होता है जिसमें बीमारी फैलाने वाले कीटाणु होते हैं। DPCC ने बॉयोमेडिकल कचरे के लिए सख्त नियम बना रखे हैं, लेकिन ये अस्पताल इन नियमों का बार बार उल्लंघन करते पकड़े गए। जिसके बाद इन अस्पतालों पर ये कार्रवाई की गई।

केंद्र और ‌दिल्ली सरकार ने मिलकर दिल्ली में पॉल्यूशन लेवल को सुधारने के मकसद से 44 ज्वाइंट टीमें बनाई थी। इन टीमों को पर्यावरण के नियमों की अनदेखी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। DPCC ने नियमों के उल्लंघन के मामले में कुल 56 संस्थानों की पहचान की है। दिल्ली के लाजपत नगर और करोलबाग में भी कई अस्पताल हैं। जो नियमों का पालन नहीं कर रहे थे। इन्हें भी बंद करने का नोटिस मिला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here