कहानी
फिल्म बाप-बेटी के रिश्ते और बेटी के विदेश जाने की कहानी पर आधारित है। फिल्म में चंपक बंसल (इरफान खान) एक खानदानी हलवाई हैं, जो अपने पड़दादा घसीटाराम के नाम पर मिठाई की दुकान चलाता है। उनकी बेटी तारिका (राधिका मदान) का सपना विदेश जाकर पढ़ने का है और वो हमेशा विदेशा जाने के ही ख्वाब देखती है। जब किसी वजह से चंपक की बेटी का विदेश जाने का सपना पूरा नहीं हो पाने की कागार पर होता, तो इसके लिए इरफान और दीपक डोबरियाल जमीन-आसमान एक करने पर उतर आते हैं। आखिरकार वह दिन भी आ जाता है, जब तारिका को आगे की पढ़ाई के लिए लंदन जाने का मौका मिल जाता है। अपनी बेटी का पजेसिव पिता चंपक तारिका के ख्वाबों को हकीकत का जामा पहनाने के लिए उसके साथ चल पड़ता है, लेकिन लंदन पहुंचने के बाद हालात कुछ हो जाते हैं, जिसके बारे में चंपक और उसके भाई ने सोचा भी नहीं होता। अब फिल्म में आगे क्या मोड़ आता है ये तो आपको थिएटर जाकर ही पता करना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here