मुम्बई: कांग्रेस विधायक नितेश राणे का ऐसा एक वीडियो सामने आया है जिसमें वह महाराष्ट्र के कांकावली में मुम्बई-गोवा राजमार्ग पर गड्ढों के विरोध में बृहस्पतिवार को एक उप अभियंता को एक पुल से बांधने के बाद उन पर कीचड़ फेंकते हुए नजर आ रहे है। विवाद बढ़ने के बाद भारी दबाव में नितेश राणे ने कंकावली थाने में सरेंडर कर दिया। सिंधुदुर्ग के एसपी दीक्षित गेदम ने बताया कि नितेश राणे और उनके दो समर्थकों को गिरफ्तार कर लिया गया है। अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है।

बता दें कि नितेश राणे महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे के पुत्र हैं। राणे समेत उनके करीब 40-50 समर्थकों के खिलाफ आईपीसी की धारा 353, 342, 332, 324, 323, 120(A), 147, 143, 504, 506 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है।

पूर्व सीएम नारायण राणे ने भी अपने बेटे के इस व्यवहार पर नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा, ‘हाइवे के लिए प्रदर्शन ठीक है लेकिन हिंसा पूरी तरह गलत है। उन्होंने कहा, ‘यदि एक पिता बगैर गलती के माफी मांग सकता है तो बेटे को माफी मांगनी पड़ेगी।’

बता दें कि इंदौर में भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय द्वारा एक सरकारी अधिकारी पर हमला किए जाने के कुछ दिनों बाद यह घटना सामने आई है। सोशल मीडिया पर वायरल हुई वीडियो क्लिप में राणे और कांकावली नगर परिषद के अध्यक्ष समीर नलवाडे को भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के उप अभियंता प्रकाश खेडेकर को एक पुल की रेलिंग से कथित तौर पर बांधते हुए और उन पर कीचड़ फेंकते हुए देखा जा सकता है।

राणे और नलवाडे को खेडेकर को यह कहते हुए भी सुना जा सकता है, ‘‘हर दिन स्थानीय लोगों को, गुजरने वाले वाहनों से ऐसी कीचड़ का सामना करना पड़ता है… आप भी इसका अनुभव करें।’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here