नई दिल्ली। 10 अक्टूबर से जियो से दूसरे नेटवर्क पर कॉल करने पर आपको 6 पैसे प्रति मिनट चार्ज देना होगा। हालांकि अगर आप जियो से जियो पर कॉल करते हैं तो इसके लिए आपको कोई शुल्क नहीं देना होगा। दरअसल ये शुल्क इंटरकनेक्ट यूसेज चार्ज(ICU) द्वारा निर्धारित शुल्क के तहत जियो को लेना होगा।
बता दें कि इंटरकनेक्ट यूसेज चार्ज या IUC एक मोबाइल टेलिकॉम ऑपरेटर द्वारा दूसरे को भुगतान की जाने वाली रकम है। जब एक टेलीकॉम ऑपरेटर के ग्राहक दूसरे ऑपरेटर के ग्राहकों को आउटगोइंग मोबाइल कॉल करते हैं तब IUC का भुगतान कॉल करने वाले ऑपरेटर को करना पड़ता है। दो अलग-अलग नेटवर्क के बीच ये कॉल मोबाइल ऑफ-नेट कॉल के रूप में जानी जाती हैं। भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) द्वारा IUC शुल्क निर्धारित किए जाते हैं और वर्तमान में यह 6 पैसे प्रति मिनट हैं।
बता दें कि ट्राई ने 2011 से बार-बार यह कहा है कि IUC शुल्क शून्य किया जाना चाहिए। ट्राई की राय है कि टर्मिनेशन शुल्क में लगातार कमी की जानी चाहिए और आखिर में इसे समाप्त किया जाना चाहिए। जिसके मुताबिक वर्तमान से 2 साल के अंत तक हो जाना चाहिए।”
1 अक्टूबर 2017 से मोबाइल कॉल के लिए IUC, 14 पैसे प्रति मिनट चार्ज था जिसे घटाकर 6 पैसे प्रति मिनट कर दिया गया। संशोधनों के प्रभाव को देखें तो मोबाइल कॉल के लिए IUC 1 जनवरी 2020 से ZERO होगा।
जियो ने जारी की प्रेस रिलीज
जियो की तरफ से जारी एक प्रेस रिलीज में कहा गया है कि, “ट्राई के रुख और पहले से ही IUC को शून्य तक कम करने वाले नियमों में किए गए संशोधन के आधार पर, Jio ने अपने ग्राहकों को मुफ्त वॉयस कॉल की सुविधा देने के लिए Airtel और Vodafone-Idea आदि को अपने स्वयं के संसाधनों से IUC का भुगतान जारी रखा। अब तक, पिछले तीन वर्षों में Jio ने अन्य ऑपरेटरों को IUC शुल्क के रूप में लगभग 1,3,500 करोड़ रुपये का भुगतान किया है। जियो से अन्य नेटवर्क पर कॉल करने पर 6 पैसे प्रति मिनट देना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here