मुंबई: सिद्धार्थ मल्होत्रा और परिणीति चोपड़ा स्टारर फिल्म जबारिया जोड़ी सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है। फिल्म को पहले शो के बाद मिली-जुली प्रतिक्रिया मिली है। किसी ने इसे बहुत अच्छी कहा है तो कई दर्शकों का कहना है कि फिल्म की कहानी निराश करती है और वह कहना क्या चाहती है कुछ समझ ही नहीं आता। हाल ही में बॉलीवुड में ‘पेडमैन’ और ‘आर्टिकल-15’ जैसी कई सामाजिक मुद्दों को उठाती हुई फिल्में बनी और उन्हें काफी सराहा भी गया। लेकिन फिल्म ‘जबारिया जोड़ी’ की कहानी पखवाड़ा विवाह (दुल्हन की किडनैपिंक) पर बेस्ड है। इस तरह के मामले नार्थ इंडिया के यूपी-बिहार में ज्यादा देखने को मिलते हैं। जहां पर बंदूक की नोक पर पहले लड़की की किडनेपिंक की जाती है और फिर जबरन शादी करा दी जाती है। ‘जबारिया’ जोड़ी’ के पोस्टर, टीजर और ट्रेलर को देखने के बाद अहसास हो गया था कि यह हल्की-फुल्की कॉमेडी फिल्म होगी। लेकिन दुर्भाग्य से कॉमेडी और गानों के चक्कर में डायरेक्टर फिल्म की कहानी से ही भटक गए। बिहारी लहजा भी कुछ खास नहीं है और कहानी काफी कन्फ्यूजिंग है। ऐसे में दर्शकों को सिनेमाहाल में निराशा ही हाथ लगी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here