छिंदवाड़ा में 25 हजार बच्चों ने “वैष्णव जन तो तेने कहिए” भजन गाकर बनाया विश्व रिकॉर्ड

भोपाल : छिंदवाड़ा में 99 वर्ष पूर्व राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी द्वारा असहयोग आंदोलन के सिलसिले में की गई ऐतिहासिक यात्रा के उपलक्ष्य में मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ की उपस्थिति में 25 हजार स्कूली बच्चों ने उनका प्रिय भजन ‘वैष्णव जन तो तेने कहिए’ गाकर एक नया इतिहास रचा। गाँधी प्रवास शताब्दी समारोह में एक साथ इतनी बड़ी संख्या में गाँधी जी का यह भजन गायन कर बच्चों ने विश्व रिकॉर्ड बनाया है। गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के साउथ एशिया हेड श्री आलोक कुमार ने मुख्यमंत्री को इस रिकॉर्ड का प्रमाण-पत्र प्रदान किया।
बांटने नहीं, जोड़ने की संस्कृति अपनायें बच्चे
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने बच्चों से कहा कि भारत की विभिन्नता में एकता की ताकत के साथ अगर हमारे सामाजिक और पारिवारिक मूल्य सुरक्षित नहीं होंगे, तो भारत का भविष्य खतरे में पड़ जाएगा। मुख्यमंत्री ने बच्चों को सावधान‍करते हुए कहा कि वे बाँटने की नहीं जोड़ने की संस्कृति को अपनाएं। सच्चाई का साथ दें और उसे पहचानें। उन्होंने कहा कि इसके लिए हमें गाँधी जी के विचारों को अपनाना होगा। गाँधी जी के सिद्धांतों पर चलकर अपने देश की एकता और अखण्डता को मजबूत बनाना होगा।
विश्व स्वीकारता है भारत की महानता
गाँधी जी की छिंदवाड़ा यात्रा के 99 वर्ष पूरे होने पर आयोजित शताब्दी प्रवास समारोह में मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत को आजादी के साथ एक ऐसा देश विरासत में मिला है, जिसकी विविध संस्कृति, धर्म, भाषा और पहनावा, रहन-सहन अलग होने के बावजूद भी एक गुलदस्ते के रूप में पूरी दुनिया को खुशबु देता है। उन्होंने कहा कि हमारी इस विशेषता को पूरा विश्व आश्चर्य से देखता है। भारत की महानता को विश्व इसलिए स्वीकार करता है क्योंकि इतनी विभिन्नताओं के बाद भी हम सभी लोग एक झण्डे के नीचे एकजुटता के साथ खड़े है।
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने बच्चों से कहा कि उनकी शिक्षा सिर्फ स्कूल और कॉलेज तक ही सीमित है लेकिन ज्ञान उन्हें जीवन भर प्राप्त होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि यही ज्ञान उन्हें सशक्त और समर्थ बनाएगा और उनका तथा देश का भविष्य सुरक्षित रखेगा।
देश में रेखांकित होगी छिंदवाड़ा की प्रगति
मुख्यमंत्री ने कहा कि आज छिंदवाड़ा की न केवल प्रदेश बल्कि पूरे देश में अलग पहचान है। आज छिंदवाड़ा में जो विकास दिख रहा है, अगर हम अतीत में जाएंगे, तो इसके बिलकुल विपरीत दृश्य हमें दिखाई देगा। उन्होंने कहा कि पाताल कोट एक ऐसा पिछड़ा क्षेत्र था, जहाँ के लोग नमक लेने बाहर जाते थे, जिसमें उन्हें तीन घण्टे का समय लगता था। अब वहाँ का जन-जीवन, रहन-सहन सब कुछ बदल गया है। श्री कमल नाथ ने कहा कि ‍छिंदवाड़ा का विकास और उन्नति के लिए एक जन-प्रतिनिधि होने के नाते मैंने अपनी पूरी जवानी समर्पित की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जब यहाँ मेडिकल, कृषि और उद्यानिकी कॉलेज बन जाएगा, तब छिंदवाड़ा की प्रगति पूरे देश में रेखांकित होगी।
उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के विचार हमारे अंदर राष्ट्र भक्ति का भाव जाग्रत करते हैं। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने कहा कि युवाओं को महात्मा गाँधी के विचारों से अवगत कराने के लिए सभी स्कूलों में गाँधी दर्शन की पुस्तकें उपलब्ध करायी गयी हैं।
गाँधीवादी चिंतक और जय जगत यात्रा के संयोजक श्री पी.व्ही. राजगोपाल ने कहा कि देश में शांति लाना है, तो बा-बापू को याद करना होगा और उनके दिखाए रास्ते पर चलना होगा। उन्होंने मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ द्वारा छोटे-छोटे बच्चों और युवाओं तक गाँधी जी के विचारों को पहुँचाने के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा कि गाँधी जी का सत्य, अहिंसा, सादगी और ईमानदारी का मार्ग ही विश्व को बचा सकता है।
सांसद श्री नकुल नाथ ने कहा कि गाँधी जी के छिंदवाड़ा प्रवास के 99 वर्ष पूर्व होने पर आयोजित यह समारोह ऐतिहासिक है। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में छिंदवाड़ा का भविष्य और भी उज्जवल होने वाला है। यह जिला पूरे विश्व में स्किल डेवलपमेंट के लिए जाना जाता है। शिक्षा के क्षेत्र में भी यह समृद्ध है। आठ केन्द्रीय विद्यालय के साथ हर विकासखण्ड में महाविद्यालय है। अब यहाँ मेडिकल, कृषि और उद्यानिकी महाविद्यालय भी शुरू होने वाला है। पूरे मध्य भारत में छिंदवाड़ा शिक्षा और मेडिकल क्षेत्र में हब के रूप में स्थापित हो, यह हमारा और प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ का प्रयास है।
गाँधी जी के प्रिय भजन का बना विश्व रिकॉर्ड
समारोह में मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ, मंच पर उपस्थित मंत्रीगण, सांसद नकुल नाथ सहित 25 हजार बच्चों ने महात्मा गाँधी के प्रिय भजन ‘वैष्णव जन तो तेने कहिए’ का एक साथ गायन कर विश्व रिकॉर्ड बनाया। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर गाँधी जी के जीवन पर केन्द्रित विभिन्न शालाओं में आयोजित प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता में शामिल 40 उत्कृष्ट बच्चों को शाल और प्रशस्ति-पत्र वितरित कर सम्मानित किया। प्रतियोगिता में एक लाख बच्चों ने भाग लिया था। शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय छिंदवाड़ा के छात्र तनय सोनी और पी.जी. कॉलेज छिंदवाड़ा की छात्रा कुमारी तुबा हयात खान ने गाँधी जी के व्यक्तित्व और कृतित्व पर व्याख्यान दिया।
मुख्यमंत्री ने महात्मा गाँधी की जीवन-यात्रा एवं छिंदवाड़ा प्रवास से संबंधित छाया-चित्र प्रदर्शनी का शुभारंभ किया। गाँधी जी के 150वें जन्म वर्ष के अवसर पर उनके विचारों के प्रचार-प्रसार के लिए प्रदेश सहित 11 देशों में निकाली गयी जय जगत यात्रा के सदस्य स्पेनिश पदयात्री डॉ. हैरियर नियोन ने भारत में विभिन्नता में एकता की संस्कृति पर केन्द्रित स्वरचित गीत ‘जय जगत, जय जगत पुकारे जा’ प्रस्तुत किया। पद्मश्री कवि डॉ. सुनील जोगी ने महात्मा गाँधी पर रचित गीतों का गायन किया। इस मौके पर महात्मा गाँधी के छिंदवाड़ा प्रवास और छिंदवाड़ा के विकास से संबंधित लघुचित्र का प्रदर्शन किया गया।
समारोह में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री श्री सुखदेव पांसे, आदिम जाति कल्याण मंत्री श्री ओमकार सिंह मरकाम, पूर्व मंत्री श्री दीपक सक्सेना, जिले के विधायक, अन्य जन-प्रतिनिधि और बड़ी संख्या में बच्चे उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here