लखनऊ: आग के हवाले की गई उन्नाव बलात्कार पीड़िता की शुक्रवार की देर रात दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में मौत के बाद अब यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में कराने का ऐलान किया है। सीएम योगी ने कहा कि उन्नाव रेप का इस मामले की सुनवाई फास्ट ट्रेक कोर्ट में होगी। वहीं, उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा प्रमुख मायावती ने भी इस पर प्रतिक्रिया दी।

मायावती ने ट्वीट कर कहा कि “जिस उन्नाव रेप पीड़िता को जलाकर मारने की कोशिश की गई, उसकी कलरात दिल्ली में हुई दर्दनाक मौत अति-कष्टदायक। इस दुःख की घड़ी में बीएसपी पीड़ित परिवार के साथ है। यू.पी. सरकार पीड़ित परिवार को समुचित न्याय दिलाने हेतु शीघ्र ही विशेष पहल करे, यही इंसाफ का तकाज़ा व जनता की मांग है।”

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा कि “साथ ही, इस किस्म की दर्दनाक घटनाओं को यूपी सहित पूरे देशभर में रोकने हेतु राज्य सरकारों को चाहिए कि वे लोगों में कानून का खौफ पैदा करे तथा केन्द्र भी ऐसी घटनाओं को मद्देनजर रखते हुये दोषियों को निर्धारित समय के भीतर ही फांसी की सख्त सजा दिलाने का कानून जरूर बनाए।”

गौरतलब है कि बृहस्पतिवार को जिंदा जलाए जाने के बाद पीड़िता को गंभीर हालत में दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल लाया गया था। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने उसे हवाई अड्डे से सफदरजंग अस्पताल तक ले जाने के लिए ग्रीन कॉरीडोर बनाया था। उसे लखनऊ से दिल्ली एयरलिफ्ट किया गया था। जिसके बाद दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में पीड़िता का इलाज शुरू हुआ।

लेकिन, पीड़िता की हालत बहुत गंभीर होने के कारण पीड़िता ने शुक्रवार की देर रात को दम तोड़ दिया। अस्पताल के बर्न एवं प्लास्टिक सर्जरी विभाग के प्रमुख डॉ. शलभ कुमार ने बताया, ‘‘हमारे बेहतर प्रयासों के बावजूद उसे बचाया नहीं जा सका। शाम में उसकी हालत खराब होने लगी। रात 11 बजकर 10 मिनट पर उसे दिल का दौरा पड़ा। हमने बचाने की कोशिश की लेकिन रात 11 बजकर 40 मिनट पर उसकी मौत हो गई।’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here