बेंगलुरु: भले ही चंद्रयान मिशन में भारत को पूरी तरह सफलता न मिली हो, लेकिन अभी भी इसरो न हार नहीं मानी है। इसरो प्रमुख के सिवन का कहा कि चंद्रयान मिशन 95 फीसदी सफल रहा है और विक्रम लैंडर से अगले 14 दिनों तक दोबारा संपर्क करने के प्रयास किए जा रहे हैं। ये बातें इसरो प्रमुख ने दूरदर्शन से बातचीत के दौरान कहीं।

इसरो प्रमुख ने कहा कि आर्बिटर पूरी तरह से ठीक है औैर उसमें 7 वर्ष तक कार्य करने का ईंधन है। उन्होंने बताया कि गगनयान सहित इसरो के सभी मिशन अपने समय पर ही पूरे होंगे। उन्होंने कहा कि अंतिम भाग को सही तरीके से निष्पादित नहीं किया गया, उस चरण में केवल हमने लैंडर के साथ लिंक खो दिया था, और बाद में संचार स्थापित नहीं हो सका।

पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि पीएम हमारे लिए प्रेरणा और समर्थन का स्रोत हैं। उनके भाषण ने हमें प्रेरणा दी। उनके भाषण में, विशेष वाक्यांश जो मैंने नोट किया, वो था, “विज्ञान को परिणामों के लिए नहीं देखा जाना चाहिए, लेकिन प्रयोगों के लिए देखना चाहिए और प्रयोगों से परिणाम प्राप्त होंगे।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here