लखनऊ: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने सोनभद्र जिले में बुधवार को हुए नरसंहार को लेकर कहा है कि उत्तर प्रदेश सरकार की ड्यूटी है अपराधियों को पकड़ना और मेरा कर्तव्य है अपराध से पीड़ित लोगों के पक्ष में खड़े होना। उनके ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट किया गया है जिसमें उनकी तरफ से कहा गया है कि बीजेपी अपराध रोकने में तो नाकामयाब है मगर मुझे मेरा कर्तव्य करने से रोक रही है। मुझे पीड़ितों के समर्थन में खड़े होने से कोई रोक नहीं सकता। कृपया अपराध रोकिए!

वाराणसी के बीएचयू ट्रॉमा सेंटर में इस हमले में घायल लोगों से मुलाकात के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने सोनभद्र का रुख किया। इससे पहले कि वह वहां पहुंच पातीं, यूपी पुलिस ने मीरजापुर की नारायणपुर पुलिस चौकी के पास उन्हें रोक लिया। यहां से प्रियंका को एसडीएम की गाड़ी में बैठाकर ले जाया गया। इस कार्रवाई से तैश में आईं प्रियंका ने कहा कि पुलिस मुझे जबरन मीरजापुर जाने से रोक रही है। वहीं, सोनभद्र में बवाल बढ़ने की आशंका को देखते हुए धारा 144 लागू कर दी गई है।

पुलिस द्वारा सोनभद्र जाने से रोके जाने पर बुरी तरह बिफरी प्रियंका ने सड़क पर ही धरना दे दिया। उन्होंने कहा कि पुलिस को मुझे सोनभद्र जाने से रोकने के लिए कोई आदेश नहीं मिला है। प्रियंका ने कहा कि उन्हें इस बात की कोई जानकारी नहीं है कि उन्हें कहा लेकर जा रहे हैं। जब उनसे पूछा गया कि आपको हिरासत में लिया गया है तो उन्‍होंने कहा, ‘हां, लेकिन मुझे कहां ले जाया जा रहा है मुझे पता नहीं है। लेकिन मैं तय कर चुकी हूं कि मैं सोनभद्र जाऊंगी। राज्‍य सरकार जो भी कर ले, हम नहीं झुकेंगे।’ हालांकि बाद में पुलिस ने स्पष्ट किया कि प्रियंका को सुरक्षा कारणों के चलते गेस्ट हाऊस ले जाया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here