नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली हिंसा की आग में झुलस गई। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर शुरू हुई हिंसा ने दिल्ली में विकराल रूप धारण कर लिया था अब धीरे-धीरे सभी इलाकों में शांति की कोशिश की जा रही है। इस हिंसा में कई लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। वहीं राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को हिंसा रोकने की जिम्मेदारी दी गई। जिसके बाद डोभाल एक बार फिर से नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली के सीलमपुर इलाके में डीसीपी ऑफिस पहुंचे। वहां से वह सीधे हिंसा प्रभावित मौजपुर की गलियों में पहुंचे और लोगों से शांति बनाए रखने की अपील करते नजर आए।
यहां लोगों से बात करते हुए अजीत डोभाल ने कहा कि वह गृह मंत्रालय की तरफ से निर्देश के बाद से ही इलाके के हालात का जायजा ले रहे हैं और हरसंभव कोशिश कर रहे हैं कि इलाके में जल्द स्थिति सामान्य हो। उन्होंने लोगों से भी इलाके में स्थिति सामान्य बनाने में सहयोग करने की अपील की।
अजीत डोभाल ने आज सीलमपुर इलाके में डीसीपी ऑफिस जाने के बाद डोभाल फिर हिंसाग्रस्त इलाकों का दौरा किया। आज डोभाल ने मौजपुर, जाफराबाद, घोंडा का दौरा किया। वहीं इससे पहले भी जाफराबाद, सीलमपुर समेत नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली के कई इलाकों का डोभाल दौरा कर चुके हैं।
वहीं आज हिंसा प्रभावित इलाकों का दौरा करने के बाद एनएसए अजीत डोभाल ने कहा है कि पुलिस मुस्तैदी से काम कर रही है। उन्होंने कहा, ‘स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है। लोग संतुष्ट हैं। मुझे कानून प्रवर्तन एजेंसियों पर भरोसा है। पुलिस अपना काम कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here