नई दिल्ली : भारत ने पाकिस्तान को एक बार फिर आईना दिखलाया है। भारत ने पाकिस्तान में होने वाले डेविस कप मुकावले में खेलने से इंकार कर दिया है। इस बारे में अखिल भारतीय टेनिस संघ (एआईटीए) के सचिव हिरनमॉय चटर्जी ने कहा है कि उन्होंने अंतरराष्ट्रीय टेनिस महासंघ (आईटीएफ) से बात करने के लिए समय मांगा है ताकि वह आने वाले डेविस कप मुकाबले को इस्लामाबाद से स्थानांतरित करने की मांग रखें।
चटर्जी ने कहा, ‘हमने आईटीएफ को पत्र लिखा है और स्थिति की समीक्षा करने को कहा है। इसी के साथ हमने उनसे इसी सप्ताह फोन पर बात करने का समय मांगा है ताकि हम उन्हें यह समझा जा सकें कि भारत और पाकिस्तान के बीच इस समय स्थिति अच्छी नहीं है। चटर्जी ने कहा, ‘आईटीएफ जमीनी हकीकत नहीं समझ रहा जो पांच अगस्त की घोषणा के बाद पनपी है। इस स्थिति में हमारे देश का कोई खिलाड़ी पाकिस्तान जाकर नहीं खेल सकता। हम उनके जवाब का इंतजार करेंगे और उसके हिसाब से फैसला लेंगे। दोनों देशों को डेविस कप का मुकाबला खेलना है लेकिन भारत सरकार द्वारा जम्मू एवं कश्मीर में से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से दोनों देशों की स्थिति बदली है। अगर मुकाबला तय समय के अनुसार होता है तो भारतीय टेनिस टीम को 55 साल बाद पाकिस्तान जाना पड़ेगा। इससे पहले भारतीय टेनिस टीम ने 1964 में पाकिस्तान में मुकाबला खेला था। उस समय भारतीय टीम की जीत हुई थी। दोनों देशों में क्रिकेट का रोमांच हमेशा चरम पर रहता है। लेकिन भारत ने अंतिम बार 2008 में पाकिस्तान का दौरा किया था। इसके बाद से दोनों देशों के रिश्ते कभी भी सामान्य नहीं रहे और 2008 के बाद भारतीय टीम कभी पाकिस्तान नहीं गई। पाकिस्तान की क्रिकेट टीम भी आखिरी बार 2013 में द्विपक्षीय सीरीज खेलने भारत आई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here