इंदौर। प्रशासन ने पहले चरण में शहर की लगभग 45 छोटी-बड़ी होटलों को खोलने का निर्णय लिया है, जिन्हें सख्ती से कोरोना को लेकर जारी गाइडलाइन का पालन करना पड़ेगा। होटल सायाजी, रेडिसन, मेरिएट सहित प्रमुख होटलों के अलावा कुछ छोटी होटलें भी खुलेंगी। वहीं शहर के अच्छे रेस्टोरेंट को भी अनुमति खोलने की दी जा रही है। अभी उनसे सिर्फ होम डिलीवरी ही करवाई जाएगी। डोमिनोज पिज्जा जैसी सर्विस भी इसमें शामिल रहेगी।
चूंकि रेल और प्लेन भी शुरू हो गए हैं, जिसके चलते शहर में बाहर के लोग आएंगे, तो उन्हें ठहरने की सुविधा भी चाहिए। इसके चलते शहर की कुछ होटलों को अभी शुरू करने की अनुमति दी जा रही है। होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष सुमित सूरी का कहना है कि 45 होटलों की सूची प्रशासन को सौंपी है, जो अपना कारोबार शुरू करना चाहते हैं। इसमें शहर की सभी प्रमुख बड़ी होटलों के साथ‑साथ ग्वालटोली क्षेत्र की छोटी होटलों को भी शामिल किया गया है, क्योंकि ट्रेन और सड़क मार्ग से भी कई लोग इंदौर आएंगे। इसलिए सभी तरह की होटलों को इसमें शामिल किया गया है। प्रशासन ने पिछले दिनों आर्थिक गतिविधियों को शुरू करने के लिए एसओपी भी तैयार की है। वहीं बड़े होटल समूहों ने खुद इन हाउस एसओपी तैयार की है। इसके चलते सभी तरह की सावधानी बरती जाएगी। संभवत: 1 जून से ही होटलें खुल जाएंगी। इसके अलावा 100 से अधिक अच्छे रेस्टोरेंट को भी उनका किचन शुरू करने की अनुमति दी जा रही है। वहां पर बैठकर खाना नहीं खिलाया जाएगा, लेकिन होम डिलीवरी शुरू की जाएगी इसके लिए स्वीगी, जोमेटो होम डिलीवरी सर्विस की सेवाएं ली जाएगी।
अभी छोटे भूखंडों पर निर्माण प्रतिबंधित
कलेक्टर ने निगम सीमा में 5 हजार स्क्वेयर फीट तक के भूखंडों पर भी निर्माण की अनुमति दे दी है। वहीं अभी छोटे भूखंडों पर प्रतिबंध लगा है। ये छोटे भूखंड निजी आवास निर्माण के ही हैं।
जेलरोड में 80 करोड़ के मोबाइल बंद
शहर के मध्य क्षेत्र के प्रमुख बाजारों को भी चरणबद्ध तरीके से खोला जाना है। इसमें कपड़ा मार्केट, बरतन बाजार से लेकर जेल रोड प्रमुख है। अभी जेल रोड के ही व्यापारियों ने प्रशासन से गोदाम, दुकान खोलने की अनुमति मांगी। उनका कहना है कि दो महीने से 80 करोड़ रुपए के मोबाइल और अन्य इलेक्ट्रॉनिक सामान बंद पड़े हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here