– 500 से ज्यादा डेलीगेट को संबोधित करेंगे दुनियाभर के 10 से ज्यादा स्पीकर्स
– कॉन्फ्रेंस की थीम होगी ‘कनेक्टिंग एविडेंस टू क्लीनिकल न्यूट्रीशन प्रैक्टिस’

इंदौर: इंदौर में ’11वीं अपोलो इंटरनेशनल क्लीनिकल न्यूट्रीशन अपडेट कॉन्फ्रेंस (एआईसीएनयू) 21 और 22 सितंबर 2019 को होने जा रही है। इसे इंदौर का अपोलो हॉस्पिटल होस्ट करेगा। अपोलो हॉस्पिटल ग्रुप की न्यूट्रिशन एंड डाइटेटिक्स आर्म द्वारा आयोजित इस सालाना कॉन्फ्रेंस में क्लीनिकल न्यूट्रीशन के क्षेत्र में हो रही प्रगति और अपडेट पर दुनियाभर और देश के नामी क्लीनिकल न्यूट्रीशनिस्ट और डाइटिशियन बात करेंगे।
बायपास के प्राइड होटल एंड कन्वेंशन सेंटर में हो रही इस दो दिनी कॉन्फ्रेंस में 10 देशों के 500 से ज्यादा डेलीगेट शामिल होंगे। इस साल कॉन्फ्रेंस की थीम ‘ कनेक्टिंग एविडेंस टू क्लिनिकल न्यूट्रिशन प्रैक्टिस’ रखी गयी है। 2 दिनी कॉन्फ्रेंस में कई सेशन होंगे, जिसमें 75 से ज्यादा रिसर्च पेपर भी पढ़े जाएंगे।
जॉइंट ऑर्गेनाइजिंग सेक्रेटरी प्रिया चितले ने बताया कि कांफ्रेंस में शामिल होने के लिए दुबई, यूएसए, यूके, मलेशिया, नई दिल्ली, बंगलुरु, कोलकाता, मुंबई चेन्नई से विशेषज्ञ आ रहे हैं। इंदौर के भी कई बड़े विशेषज्ञ बात करेंगे। पहले दिन 21 सितंबर को सुबह 8.30 बजे से रीनल वर्कशॉप, पिडयाट्रिक वर्कशॉप, न्यूट्रीशन केअर पर बात होगी। दूसरे दिन भी कई सेशन होंगे, जिनमें कई टॉपिक पर विशेषज्ञ बात करेंगे। आखिरी दिन पैनल डिस्कशन भी होगा।
अभिलाष पिल्लई, यूनिट हेड ने बताया कि ये सभी के लिए अनूठा प्लेटफार्म साबित होगा। दुनियाभर के कई विशेषज्ञ एक मंच पर होंगे और उनसे बातचीत का अच्छा नतीजा सामने आएगा।
डॉ. सुशील जैन, असिस्टेंट मेडिकल सुप्रीटेंडेंट ने कहा कि एक-दूसरे के ज्ञान और अनुभवों को बांटने का एक अच्छा मंच साबित होगी एआईसीएनयू कांफ्रेंस। इसमें शामिल होने वाले न्यूट्रीश्निस्ट, क्लीनिकल डाइटीशियन, रिसर्चर्स को एक प्लेटफार्म पर सुन सकेंगे।
डॉ. अशोक वाजपेयी, डायरेक्टर अपोलो हास्पिटल इंदौर ने इस कांफ्रेंस पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि ये मौका हमारे लिए बड़ा है कि अपोलो सबसे बड़ी कांफ्रेंस को होस्ट कर रहा है। स्टूडेंट्स के लिए भी ये सीखने का मौका देगा। स्वास्थ्य के क्षेत्र में न्यूट्रीश्निस्ट का बहुत बड़ा योगदान होता है, इसीलिए इस क्षेत्र में होने वाले रिसर्च, अनुभव और बदलाव की जानकारी सबके साथ बांटी जानी चाहिए। यही मौका एआईसीएनयू कांफ्रेंस में सभी को दिया जा रहा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here